Essay On Child Labour In Hindi Pdf

हमारे देश के साथ ही विदेशों में भी बाल मजदूरी एक बड़ा मुद्दा है जिसके बारे में हर एक को जागरुक होना चाहिए। चलिये, हम अपने बच्चों को इसके बारे में बताते है, इसके क्या कारण और उपाय है, जिससे समाज को इस बुराई से बचाया जा सके। सभी बच्चों को ये निबंध समझ में आये इसलिये इसे बेहद आसान शब्दों में लिखा गया है।

बाल मजदूरी पर निबंध (चाइल्ड लेबर एस्से)

You can get here some essays on Child Labour in Hindi language for students in 100, 150, 200, 250, 300, and 400 words.

बाल मजदूरी निबंध 1 (100 शब्द)

किसी भी क्षेत्र में बच्चों द्वारा अपने बचपन में दी गई सेवा को बाल मजदूरी कहते है। इसे गैर-जिम्मेदार माता-पिता की वजह से, या कम लागत में निवेश पर अपने फायदे को बढ़ाने के लिये मालिकों द्वारा जबरजस्ती बनाए गए दबाव की वजह से जीवन जीने के लिये जरुरी संसाधनों की कमी के चलते ये बच्चों द्वारा स्वत: किया जाता है, इसका कारण मायने नहीं रखता क्योंकि सभी कारकों की वजह से बच्चे बिना बचपन के अपना जीवन जीने को मजबूर होते है। बचपन सभी के जीवन में विशेष और सबसे खुशी का पल होता है जिसमें बच्चे प्रकृति, प्रियजनों और अपने माता-पिता से जीवन जीने का तरीका सीखते है। सामाजिक, बौद्धिक, शारीरिक, और मानसिक सभी दृष्टीकोण से बाल मजदूरी बच्चों की वृद्धि और विकास में अवरोध का काम करता है।

बाल मजदूरी निबंध 2 (150 शब्द)

बाल मजदूरी बच्चों से लिया जाने वाला काम है जो किसी भी क्षेत्र में उनके मालिकों द्वारा करवाया जाता है। ये एक दबावपूर्णं व्यवहार है जो अभिवावक या मालिकों द्वारा किया जाता है। बचपन सभी बच्चों का जन्म सिद्ध अधिकार है जो माता-पिता के प्यार और देख-रेख में सभी को मिलना चाहिए, ये गैरकानूनी कृत्य बच्चों को बड़ों की तरह जीने पर मजबूर करता है। इसके कारण बच्चों के जीवन में कई सारी जरुरी चीजों की कमी हो जाती है जैसे- उचित शारीरिक वृद्धि और विकास, दिमाग का अनुपयुक्त विकास, सामाजिक और बौद्धिक रुप से अस्वास्थ्यकर आदि।

इसकी वजह से बच्चे बचपन के प्यारे लम्हों से दूर हो जाते है, जो हर एक के जीवन का सबसे यादगार और खुशनुमा पल होता है। ये किसी बच्चे के नियमित स्कूल जाने की क्षमता को बाधित करता है जो इन्हें समाजिक रुप से देश का खतरनाक और नुकसान दायक नागरिक बनाता है। बाल मजदूरी को पूरी तरह से रोकने के लिये ढ़ेरों नियम-कानून बनाने के बावजूद भी ये गैर-कानूनी कृत्य दिनों-दिन बढ़ता ही जा रहा है।

बाल मजदूरी निबंध 3 (200 शब्द)

बाल मजदूरी भारत में बड़ा सामाजिक मुद्दा बनता जा रहा है जिसे नियमित आधार पर हल करना चाहिए। ये केवल सरकार की जिम्मेदारी नहीं है बल्कि इसे सभी सामाजिक संगठनों, मालिकों, और अभिभावकों द्वारा भी समाधित करना चाहिए। ये मुद्दा सभी के लिये है जोकि व्यक्तिगत तौर पर सुलझाना चाहिए, क्योंकि ये किसी के भी बच्चे के साथ हो सकता है।

भयंकर गरीबी और खराब स्कूली मौके की वजह से बहुत सारे विकासशील देशों में बाल मजदूरी बेहद आम बात है। बाल मजदूरी की उच्च दर अभी भी 50 प्रतिशत से अधिक है जिसमें 5 से 14 साल तक के बच्चे विकासशील देशों में काम कर रहे है। कृषि क्षेत्र में बाल मजदूरी की दर सबसे उच्च है जो ज्यादातर ग्रामीण और अनियमित शहरी अर्थव्यवस्था में दिखाई देती है जहाँ कि अधिकतर बच्चे अपने दोस्तों के साथ खेलने और स्कूल भेजने के बजाए प्रमुखता से अपने माता-पिता के द्वारा कृषि कार्यों में लगाये गये है।

बाल मजदूरी का मुद्दा अब अंतर्राष्ट्रीय हो चुका है क्योंकि देश के विकास और वृद्धि में ये बड़े तौर पर बाधक बन चुका है। स्वस्थ बच्चे किसी भी देश के लिये उज्जवल भविष्य और शक्ति होते है अत: बाल मजदूरी बच्चे के साथ ही देश के भविष्य को भी नुकसान, खराब तथा बरबाद कर रहा है।


 

बाल मजदूरी निबंध 4 (250 शब्द)

बाल मजदूरी इंसानियत के लिये अपराध है जो समाज के लिये श्राप बनता जा रहा है तथा जो देश के वृद्धि और विकास में बाधक के रुप में बड़ा मुद्दा है। बचपन जीवन का सबसे यादगार क्षण होता है जिसे हर एक को जन्म से जीने का अधिकार है। बच्चों को अपने दोस्तों के साथ खेलने का, स्कूल जाने का, माता-पिता के प्यार और परवरिश के एहसास करने का, तथा प्रकृति की सुंदरता का आनंद लेने का पूरा अधिकार है। जबकि केवल लोगों( माता-पिता, मालिक ) की गलत समझ की वजह से बच्चों को बड़ों की तरह जीवन बिताने पर मजबूर होना पड़ रहा है। जीवन के हर जरुरी संसाधनों की प्राप्ति के लिये उन्हें अपना बचपन कुर्बान करना पड़ रहा है।

माता-पिता अपने बच्चों को परिवार के प्रति बचपन से ही जिम्मेदार बनाना चाहते है। वो ये नहीं समझते कि उनके बच्चों को प्यार और परवरिश की जरुरत होती है, उन्हें नियमित स्कूल जाने तथा अच्छी तरह से बड़ा होने के लिये दोस्तों के साथ खेलने की जरुरत है। बच्चों से काम कराने वाले माँ-बाप सोचते है कि बच्चे उनके जागीर होते है और वो उन्हें अपने हिसाब से इस्तेमाल करते है। वास्तव में हर माता-पिता को ये समझना चाहिए कि देश के प्रति भी उनकी कुछ जिम्मेदारी है। देश के भविष्य को उज्जवल बनाने के लिये उन्हें अपने बच्चों को हर तरह से स्वस्थ बनाना चाहिए।

माता-पिता को परिवार की जिम्मेदारी खुद से लेनी चाहिए तथा अपने बच्चों को उनका बचपन प्यार और अच्छी परवरिश के साथ जीने देना चाहिए। पूरी दुनिया में बाल मजदूरी के लिए मुख्य कारण गरीबी, माता-पिता, समाज, कम आय, बेरोजगारी, खराब जीवन शैली तथा समझ, सामाजिक न्याय, स्कूलों की कमी, पिछड़ापन, और अप्रभावशाली कानून है जो देश के विकास को प्रत्यक्षत: प्रभावित कर रहा है।

 

बाल मजदूरी निबंध 5 (300 शब्द)

5 से 14 साल तक के बच्चों का अपने बचपन से ही नियमित काम करना बाल मजदूरी कहलाता है। विकासशील देशों मे बच्चे जीवन जीने के लिये बेहद कम पैसों पर अपनी इच्छा के विरुद्ध जाकर पूरे दिन कड़ी मेहनत करने के लिए मजबूर है। वो स्कूल जाना चाहते है, अपने दोस्तों के साथ खेलना चाहते है और दूसरे अमीर बच्चों की तरह अपने माता-पिता का प्यार और परवरिश पाना चाहते है लेकिन दुर्भाग्यवश उन्हें अपनी हर इच्छाओं का गला घोंटना पड़ता है।

विकासशील देशों में, खराब स्कूलिंग मौके, शिक्षा के लिये कम जागरुकता और गरीबी की वजह से बाल मजदूरी की दर बहुत अधिक है। ग्रामीण क्षेंत्रों में अपने माता-पिता द्वारा कृषि में शामिल 5 से 14 साल तक के ज्यादातर बच्चे पाए जाते है। पूरे विश्व में सभी विकासशील देशों में बाल मजदूरी का सबसे मुख्य कारण गरीबी और स्कूलों की कमी है।

बचपन हर एक के जीवन का सबसे खुशनुमा और जरुरी अनुभव माना जाता है क्योंकि बचपन बहुत जरुरी और दोस्ताना समय होता है सीखने का। अपने माता-पिता से बच्चों को पूरा अधिकार होता है खास देख-रेख पाने का, प्यार और परवरिश का, स्कूल जाने का, दोस्तों के साथ खेलने का और दूसरे खुशनुमा पलों का लुफ्त उठाने का। बाल मजदूरी हर दिन न जाने कितने अनमोल बच्चों का जीवन बिगाड़ रहा है। ये बड़े स्तर का गैर-कानूनी कृत्य है जिसके लिये सजा होनी चाहिये लेकिन अप्रभावी नियम-कानूनों से ये हमारे आस-पास चलता रहता है।

समाज से इस बुराई को जड़ से मिटाने के लिये कुछ भी बेहतर नहीं हो रहा है। कम आयु में उनके साथ क्या हो रहा है इस बात का एहसास करने के लिये बच्चे बेहद छोटे, प्यारे और मासूम है। वो इस बात को समझने में अक्षम है कि उनके लिये क्या गलत और गैर-कानूनी है, बजाए इसके बच्चे अपने कामों के लिये छोटी कमाई को पाकर खुश रहते है। अनजाने में वो रोजाना की अपनी छोटी कमाई में रुचि रखने लगते है और अपना पूरा जीवन और भविष्य इसी से चलाते है।


 

बाल मजदूरी निबंध- 6 (400 शब्द)

अपने देश के लिये सबसे जरुरी संपत्ति के रुप में बच्चों को संरक्षित किया जाता है जबकि इनके माता-पिता की गलत समझ और गरीबी की वजह से बच्चे देश की शक्ति बनने के बजाए देश की कमजोरी का कारण बन रहे है। बच्चों के कल्याण के लिये कल्याकारी समाज और सरकार की ओर से बहुत सारे जागरुकता अभियान चलाने के बावजूद गरीबी रेखा से नीचे के ज्यादातर बच्चे रोज बाल मजदूरी करने के लिये मजबूर होते है।

किसी भी राष्ट्र के लिये बच्चे नए फूल की शक्तिशाली खुशबू की तरह होते है जबकि कुछ लोग थोड़े से पैसों के लिये गैर-कानूनी तरीके से इन बच्चों को बाल मजदूरी के कुँएं में धकेल देते है साथ ही देश का भी भविष्य बिगाड़ देते है। ये लोग बच्चों और निर्दोष लोगों की नैतिकता से खिलवाड़ करते है। बाल मजदूरी से बच्चों को बचाने की जिम्मेदारी देश के हर नागरिक की है। ये एक सामाजिक समस्या है जो लंबे समय से चल रहा है और इसे जड़ से उखाड़ने की जरुरत है।

देश की आजादी के बाद, इसको जड़ से उखाड़ने के लिये कई सारे नियम-कानून बनाए गये लेकिन कोई भी प्रभावी साबित नहीं हुआ। इससे सीधे तौर पर बच्चों के मासूमियत का मानसिक, शारीरिक, सामाजिक और बौद्धिक तरीके से विनाश हो रहा है। बच्चे प्रकृति की बनायी एक प्यारी कलाकृति है लेकिन ये बिल्कुल भी सही नहीं है कि कुछ बुरी परिस्थितियों की वजह से बिना सही उम्र में पहुँचे उन्हें इतना कठिन श्रम करना पड़े।

बाल मजदूरी एक वैशविक समस्या है जो विकासशील देशों में बेहद आम है। माता-पिता या गरीबी रेखा से नीचे के लोग अपने बच्चों की शिक्षा का खर्च वहन नहीं कर पाते है और जीवन-यापन के लिये भी जरुरी पैसा भी नहीं कमा पाते है। इसी वजह से वो अपने बच्चों को स्कूल भेजने के बजाए कठिन श्रम में शामिल कर लेते है। वो मानते है कि बच्चों को स्कूल भेजना समय की बरबादी है और कम उम्र में पैसा कमाना परिवार के लिये अच्छा होता है। बाल मजदूरी के बुरे प्रभावों से गरीब के साथ-साथ अमीर लोगों को भी तुरंत अवगत कराने की जरुरत है। उन्हें हर तरह की संसाधनों की उपलब्ता करानी चाहिये जिसकी उन्हें कमी है। अमीरों को गरीबों की मदद करनी चाहिए जिससे उनके बच्चे सभी जरुरी चीजें अपने बचपन में पा सके। इसको जड़ से मिटाने के लिये सरकार को कड़े नियम-कानून बनाने चाहिए।


Previous Story

महिला सशक्तिकरण पर निबंध

Next Story

सामाजिक मुद्दे और सामाजिक जागरूकता पर निबंध

READ MORE

Child Labour Essay In English - poddp.zapto.org

Essay On Child Labour In Hindi Labour In Hindi" Essays and Research Papers . Essay On Child Labour In Hindi. Critical essay The role of

READ MORE

Essay on child labor in Hindi language - Answers.com

UNICEF - Photo essay: Child labour Working children are often denied an education. UNICEF works to protect children from forced labour by promoting

READ MORE

Child labour essay in hindi language wikipedia

The steps taken by Government to check child labour and promote child welfare in India! Child Labour is one of the serious hurdles on the path of human.

READ MORE

Hindi Essay: Short Essay on 'Child Labour in India' in

Child labour means that children are forced to work like adults and take part in an economic activity. According to the ILO International Labour

READ MORE

Child labour essay in hindi pdf - WordPress.com

Essay Of Child Labour Hindi Essay On Child Labour In Hindi Essay On Child Labour In Hindi My favorite city essay on favourite food hindi.

READ MORE

SHORT ESSAY ON CHILD LABOUR IN HINDI SEOCLIH-18

CHILD LABOUR. CHILD LABOUR INTRODUCTION: Child labour refers to the employment of children at regular and sustained labour. This practice is considered

READ MORE

Short Essay On Child Labour In Hindi - seatpioo.nvllb.org

Free Essays on Hindi Essays On Child Labour. Get help with your writing. 1 through 30

READ MORE

Child Labour In India In Hindi Free Essays - 20 -

The prevalence of child labour is highest in sub data on child labour and calls upon all countries to develop a system of child labour statistics.

READ MORE

Child Labour Essay Hindi Font Essay On Child Labour

05.04.2014 · Child labour essay hindi >>> next page Topics for definition essay papers When applying to georgia state

READ MORE

Speech On Importance Of Labour Hindi Essays About Child

Child Labour Essay Hindi Font Essay On Child Labour In Hindi Essay On Child Labour In Hindi An essay on child labour related essays. College essays hindi

READ MORE

Essay of child labour in hindi - writing essays|articles|

Child labour essay in hindi pdf Child labour essay in hindi pdf Child labour essay in hindi pdf DOWNLOAD! DIRECT DOWNLOAD! Child labour essay in hindi pdf

READ MORE

Child labour - Wikipedia, the free encyclopedia

Browse and Read Short Essay On Child Labour In Hindi Short Essay On Child Labour In Hindi Title Type short essay on child labour in hindi PDF short article

READ MORE

An Essay: Child Labour in India - blogspot.com

16.02.2015 · Visit the post for more. Click to continue <<< pdf. This essay examines: 1 the characteristics of various kinds

READ MORE

Short Essay On Child Labour In Hindi - detivo.net

Child labour was found to be present in other minority religions of India but at significantly lower rates. Across caste classification,

READ MORE

All Essay: Short Essay on 'Child Labour in India' (400

Free Essays on Child Labor In Hindi Language essay on child labor in Hindi? | Yahoo Answers. Free Essays on Essay On Child Labour In Hindi for students.

READ MORE

Child labour essay hindi – glowvenanbiballfortithotufason

Speech On Importance Of Labour Hindi Essays About Child Labour Essays About Child Labour Essay daily statistics formulas cheat sheet on child. Child labor

READ MORE

Child labor essay - Write My Research Paper From Scratch

Browse and Download Short Essay On Child Labour In Hindi Short Essay On Child Labour In Hindi Title Type short essay on child labour in hindi PDF

READ MORE

Essay about child labour in hindi

Browse and Read Short Essay On Child Labour In Hindi Short Essay On Child Labour In Hindi Title Type short essay on child labour in hindi PDF short article

READ MORE

Child labour | Child protection from violence - UNICEF

Download and Read Short Essay On Child Labour In Hindi. Title Type study guide to accompany child health nursing care of the child and family PDF

READ MORE

Short Essay On Child Labour In Hindi - atefoot4.com

3 Response to "An Essay: Child Labour in India" IN HINDI (5) India (5) An Essay: Child Labour in India; An Essay: Corruption in India;

READ MORE

Child labour - Simple English Wikipedia, the free

Download and Read Short Essay On Child Labour In Hindi. Title Type study guide to accompany child health nursing care of the child and family PDF

READ MORE

Child labour essay hindi - - essays , biography

An Essay on Child Labour in India given here. Hindi, Gujarati, Best, Long, Short Essay, for Students, Kids, College, High School, Marathi, Punjabi, Tamil

READ MORE

child labour essays - Scribd

10.03.2013 · Short Essay on 'Child Labour in India' (400 Words) According to Hindu philosphy, a child is Child Labour in India is an abuse and

READ MORE

child labour essay in hindi pdf

Child LaBOR essaysChild labor is a serious problem in many parts of the world, especially in developing countries. Labor is defined as physical or mental work.

READ MORE

Short Essay On Child Labour In Hindi - thmod.bud

26.11.2014 · Child labour in india hindi essays >>> get more info Novel synthesis cadaverine Don’t take a worthless risk

READ MORE

Child labour in India - Wikipedia, the free encyclopedia

PDF File: Short Essay On Child Labour In Hindi - SEOCLIH-18-INRG6-PDF 3/4. Related PDF's for Short Essay On Child Labour In Hindi. SHORT ESSAY ON CHILD

READ MORE

Essay on Child Labour for Children and Students

25.01.2013 · ppt on child labour 1. • What is child labor?• Causes of child What is childlabor? “Child labour” is generally speaking,

READ MORE

Essay On Child Labour In Hindi Free Essays - StudyMode

Browse and Read Child Labour Essay In English. Title Type persuasive essay on child poverty PDF child obesity college essay PDF child obesity essay

READ MORE

Short Essay On Child Labour In Hindi

Child labour; Compulsory education; Conscription; Corporal punishment; Curfew; Child abuse; Main article: Child labour in India. Child maid servant in

READ MORE

Essays on Child Labor In Hindi Language - Essay Depot

Browse and Read Child Labour In India Hindi Essays. Title Type mccormick cx labour time schedules user guide PDF kioti mechron 2200 labour time schedules

READ MORE

UNICEF STATISTICS

01.11.2014 · download >>> CLICK HERE TO CONTINUE Writing the perfect narrative essay As a

READ MORE

UNICEF Photo essay - Child labour

14.05.2014 · pdf >>> get more info How to cite mla in the essay Check out these examples for

Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *